Dec ०३, २०२३ १६:४१ Asia/Kolkata
  • ग़ज़्ज़ा में जातीय सफ़ाए में लगा हुआ है इस्राईल

फ़िलिस्तीनियों के विरुद्ध ज़ायोनियों की कार्यवाहियां सिद्ध करती हैं कि यह एक जातिवादी शासन है।

राष्ट्रपति रईसी कहते हैं कि हम इस्लामी गणतंत्र ईरान के संविधान के अनुसार ही फ़िलिस्तीनियों का समर्थन करते हैं। 

सैयद इब्राहीम रईसी ने रविवार को कहा कि इस्लामी क्रांति के आरंभ से ही फ़िलिस्तीनियों का समर्थन, क्रांति का पहला मुद्दा रहा है।  उन्होंने कहा कि अब यह सबके लिए स्पष्ट हो चुका है कि अवैध ज़ायोनी शासन, जातिवादी शासन है जो ग़ज़्ज़ा में खुलकर फ़िलिस्तीनियों का जनसंहार कर रहा है। 

ईरान के राष्ट्रपति का कहना था कि ग़ज़्ज़ा में निर्दोष 6000 फ़िलिस्तीनी बच्चों का ख़ून, रंग लाकर रहेगा।  उन्होंने कहा कि यह ख़ून ही अवैध शासन का अंत करेगा।  इससे पहले राष्ट्रपति रईसी कह चुके हैं कि जायोनी शासन अमेरिकी समर्थन से ग़ज़्ज़ा में अपराध जारी रखते हुए नस्ली सफाया कर रहा है। 

उन्होंने अमेरिका को जायोनी सरकार का मूल समर्थक और अपराधों की बुनियाद रखने वाला बताया। राष्ट्रपति ने कहा कि हमारा मानना है कि देशों के ज़िम्मेदारों और शासकों की चुप्पी के साथ ही उनके कमज़ोर दृष्टिकोण, बच्चों की हत्या के लिए इस अवैध शासन को दुस्साहसी बना रहे हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें। 

टैग्स