Apr १४, २०२४ १०:५७ Asia/Kolkata
  • इस्राईल पर जवाबी हमला ईरान का क़ानूनी अधिकारः विदेशमंत्रालय

इस्लामी गणराज्य ईरान के विदेशमंत्रालय ने दमिश्क में ईरान के कांउसलेट पर जायोनी सरकार के हमले के जवाब में ईरान की तरफ़ से किए गए बड़े हमले के संबंध में एक बयान जारी करके कहा है कि यह जवाब राष्ट्रसंघ के घोषणापत्र के अनुच्छेद 51 के अनुसार ईरान का कानूनी अधिकार है।

ईरान के सैन्य सलाहकार सीरियाई सरकार के आधिकारिक निमंत्रण पर इस देश में अपना कार्य अंजाम दे रहे थे कि जायोनी सरकार ने पहली अप्रैल को ईरानी दूतावास के काउंसुलर विभाग की इमारत पर हमला करके ईरान के 7 सैन्य सलाहकारों को शहीद कर दिया था।

ईरान की सिपाहे पासदाराने इंक़ेलाब आईआरजीसी ने जायोनी सरकार के इस हमले का जवाब 13 अप्रैल 2024 को दे दिया। इस्लामी गणराज्य ईरान ने बल देकर कहा है कि वह राष्ट्रसंघ के घोषणापत्र और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के प्रति कटिबद्ध है। साथ ही ईरान ने बल देकर कहा है कि वह ताक़त के हर प्रकार के गैर क़ानूनी प्रयोग का करारा जवाब देगा और अपनी संप्रभुता और राष्ट्रीय हितों की रक्षा में किसी प्रकार के संकोच से काम नहीं लेगा।

ईरान द्वारा की गई सेल्फ़ डिफ़ेंस की कार्यवाही का यह संदेश है कि क्षेत्र और विश्व में शांति व सुरक्षा स्थापित करने में ईरान की कार्यवाही ऐसी स्थिति में की जा रही है जब जायोनी सरकार गैर क़ानूनी तरीक़े से फ़िलिस्तीन में नस्लीय सफाया कर रही है और पड़ोसी देशों के खिलाफ उसके हमले जारी हैं। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें।

टैग्स