Sep १९, २०२३ १८:१५ Asia/Kolkata
  • अमरीका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने कहा कि उनका देश यमन में जारी संघर्ष विराम को स्थायी शांति समझौते में बदलने का समर्थन करता है।

ब्लिंकन ने सऊदी अरब द्वारा समर्थित यमनी राजनैतिक धड़े के एक नेता रशाद अलीमी से मुलाक़ात में कहा कि उनका देश चाहता है कि यमन में शांति स्थापित हो और यमन की जनता की समस्याएं ख़त्म हों।

ब्लिंकन ने अपने एक्स एकाउंट पर यह बात लिखी।

दूसरी ओर अमरीका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यु मिलेर ने कहा कि विदेश मंत्री ब्लिंकन ने इस बात पर भी ज़ोर दिया है कि यमन में राजनैतिक प्रक्रिया तत्काल शुरू की जाए और सभी धड़ों को उसमें शामिल किया जाए और यह प्रक्रिया संयुक्त राष्ट्र संघ की निगरानी में शुरू की जाए।

इससे पहले यमन के मामले में अमरीका के विशेष दूत टिमोथी लिंडरकिंग ने कहा था कि यमन में संघर्ष विराम की समय सीमा बढ़ा दी जानी चाहिए और इसके विश्व समुदाय को कोशिश करनी चाहिए कि यमन का एयर ट्रैफ़िक पूरी तरह बहाल हो जाए।

लिंडरकिंग ने कहा कि संघर्ष विराम शुरू होने के बाद यमन की जनता को राहत मिली है और 20 हज़ार यमनी सनआ एयरपोर्ट से यात्रा करने में सफल हुए।

सऊदी अरब ने गुरुवार को एलान किया है कि वह राजधानी सनआ और बड़े भाग पर नियंत्रण रखने वाले अंसारुल्लाह आंदोलन की सरकार के प्रतिनिधिमंडल को निमंत्रण भेज रही है ताकि राजनैतिक बातचीत की प्रक्रिया आगे बढ़े और संकट का समाधान निकले।

सनआ स्थित सर्वोच्च राजनैतिक परिषद के सदस्य मुहम्मद अली अलहौसी ने अपने एक्स एकाउंट पर लिखा कि सनआ से प्रतिनिधिमंडल रियाज़ जा रहा है और हम आशा करते हैं कि चुनौतियों से निपटने में कामयाबी मिलेगी।

यह यमन जंग शुरू होने के बाद से सनआ से रियाज़ किसी प्रतिनिधिमंडल की पहली यात्रा है जिसका अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सोलीवान ने भी स्वागत किया।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करे

टैग्स