Feb २४, २०२४ १२:३१ Asia/Kolkata

एक अमेरिकी यहूदी रब्बी ने कहा है कि हम फिलिस्तीन में हर प्रकार की यहूदी सरकार के गठन के विरोधी हैं और इस सरकार का एक बालिश्त भी हमें नहीं चाहिये और वास्तविक यहूदी सदैव गज्जा पट्टी और पश्चिमी किनारे के फिलिस्तीनी लोगों के समर्थक हैं।

यसराईल डेविड वेस ने अलआलम से बातचीत में कहा कि हम जायोनियों के विरोधी यहूदी हैं और जायोनियों ने यहूदी धर्म का दुपरुयोग किया है जबकि बहुत से यहूदी रब्बी जायोनियों के विरोधी थे और हैं क्योंकि हमें सरकार का गठन नहीं करना चाहिये।

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन में समस्या उस समय से आरंभ हुई है जब वर्ष 1948 में जायोनी राजनीति में आ गये वरना इससे पहले मुसलमान, यहूदी और ईसाई सब मिलकर फिलिस्तीनियों के साथ शांतिपूर्ण ढंग से रह रहे थे।

इस यहूदी रब्बी ने बल देकर कहा कि मुसलमान कभी भी न तो यहूदियों के खिलाफ थे और न हैं बल्कि यह इस्राईल है जिसने फिलिस्तीन में विभिन्न धर्मों के बीच फूट और नफ़रत डाल दिया है और मुसलमानों को यहूदियों का विरोधी बताकर अपने अवैध अतिग्रहण का औचित्य दर्शाते हैं।

यसराईल डेविड वेस ने कहा कि इस्राईल ने सदैव यह दुष्प्रचार किया है कि अरब यहूदियों से नफरत करते हैं और दावा करते हैं कि यह अरब थे जिन्होंने सात अक्तूबर को 1200 यहूदियों की हत्या कर दी जबकि यह संभव है कि इस हत्या का कारण व जिम्मेदार खुद इस्राईल रहा हो।

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन में हम हर प्रकार की सरकार के गठन के विरोधी हैं और वहां गठित होने वाली सरकार का हमें एक बालिश्त भी नहीं चाहिये और इस्राईल जो कुछ फिलिस्तीनियों के खिलाफ अंजाम दे रहा है हम उसे अपराध समझते हैं और सच्चे व वास्तविक यहूदी फिलिस्तीनियों के समर्थक हैं इसलिए हम न्यूयार्क और वाशिंगटन की सड़कों पर गज्जा के लोगों के हित में प्रदर्शन करते हैं जो हमारी गाड़ियों को पंचर किये जाने और हमें जान से मारने की धमकी दिये जाने का कारण बना।

इस अमेरिकी यहूदी रब्बी ने कहा कि इस्राईल की जायोनी सरकार का अंत हो जायेगा और शांति स्थापित होगी अतः हम इस्राईल के खिलाफ और फिलिस्तीनी लोगों के पक्ष में प्रदर्शन करते रहेंगे।

गज्जा के निर्दोष लोगों की हत्या एक गलत कार्य है जिसे रोका जाना चाहिये, हमने हमास और हिज्बुल्लाह के नेताओं तक से मुलाकात की है, उन लोगों ने गर्मजोशी के साथ मेरा स्वागत किया और कहा कि हम हरगिज़ यहूदियों के खिलाफ नहीं हैं बल्कि जायोनिज्म और इस्राईल के खिलाफ हैं तो अगर शांति के मार्ग की रुकावट खत्म कर दें तो हम एक दूसरे के साथ शांतिपूर्ण ढंग से जिन्दगी कर सकते हैं और यह हमारी हार्दिक इच्छा व आरज़ू है जिसके लिए हम प्रयास कर रहे हैं।

जानकार हल्कों का मानना है कि वास्तविक यहूदी न तो मुसलमानों के दुश्मन हैं और न ही मुसलमान यहूदियों के दुश्मन हैं बल्कि यह जायोनी हैं जो वास्तविक यहूदियों और मुसलमानों दोनों के दुश्मन हैं। दूसरे शब्दों में ये जायोनी और ज़ायोनी सरकार है जो शांति के दुश्मन हैं और जब तक जायोनियों का प्रभाव खत्म नहीं होगा तब तक शांति व सुरक्षा स्थापित नहीं होगी। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें।

 

टैग्स