Jun १८, २०२४ १७:३५ Asia/Kolkata
  • हिज़्बुल्लाह ने उत्तरी फ़िलिस्तीन को भूतिया ज़मीन बना दिया

पार्सटुडे - इस्राईली मीडिया ने स्वीकार किया कि मक़बूज़ा क्षेत्रों के उत्तर में हिज़्बुल्लाह के हमलों की शुरुआत के बाद से अल-जलील और मक़बूज़ा गोलान हाइट्स के 5200 हेक्टेयर के इलाक़े जलकर राख हो गये हैं।

यह ऐसे नुक़सान हैं जिसकी भरपाई इस्राईलियों के लिए काफ़ी हद नामुमकिन है और इस इस्राईल के लिए एक बड़ा संकट बन गई हैं।

पार्सटुडे के अनुसार, इस्राईली मीडिया ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि अल-जलील और मक़बूज़ा गोलान हाइट्स में जंग की वजह से हुए भारी नुक़सान से उबरने में कई साल लगेंगे।

दूसरी ओर हिब्रू मीडिया ने एलान किया है कि हिज़्बुल्लाह ने लेबनान और इस्राईल की सीमाओं पर युद्ध की शुरुआत के बाद से अल-जलील पर लगभग 6000 रॉकेट और ड्रोन दाग़े हैं।

इस्राईली मीडिया ने स्वीकार किया कि मक़बूज़ा क्षेत्रों के उत्तरी इलाक़ों पर हिज़्बुल्लाह के रॉकेट और ड्रोन हमलों के बाद, इन इलाक़ों में स्थित ज़ायोनी बस्तियां भूतिया शहरों में बदल गई हैं।

इस्राईली मीडिया ने भी इस्राईल से मौजूदा युद्ध में हिज़्बुल्लाह की उपलब्धियों और कामयाबियों को स्वीकार किया और कहा कि हिज़्बुल्लाह का एयर डिफ़ेंस सिस्टम, सेना के ड्रोन को इन्टरसेप्ट करने, रोकने और तबाह करने में सफल रहा, यह ऐसा मामला जो चिंताजनक और निराशाजनक है।

इससे पहले "बार इलान" इस्राईली विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग के निदेशक अशर कोहेन ने भी अल-जलील में सुरक्षा बेल्ट बनाने में इस्राईल की भीषण नाकामी की ओर इशारा किया और जोर दिया: लेबनान में स्थिति बदल गई है, हिज़्बुल्लाह की गोलीबारी को रोकने के लिए होने वाला समझौता, लितानी नदी के पीछे से नहीं हो सकता।

"बार इलान" इस्राईली विश्वविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग के निदेशक ने कहा, स्थिति को देखते हुए, इस्राईली निवासी इज़राइल के उत्तर में अपने निवास स्थल की ओर नहीं लौटेंगे।

कीवर्डस: मक़बूज़ा इलाक़े, ज़ायोनी मीडिया, हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल की हार, इस्राईल की सुरक्षा बेल्ट, अल-जलील और मक़बूज़ा गोलान हाइट्स। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें।

टैग्स