Jun २१, २०२४ १८:४७ Asia/Kolkata
  • इस्राईल इनवेस्टमेंट के लिए सबसे बुरा डेस्टीनेशन/ अनिश्चित भविष्य के कारण फ़रार हो रहे निवेशक

पार्स टुडे- ग़ज़ा की जंग जारी रहने और फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ इस्राईल के वीभत्स अपराधों का सिलसिला न रुकने की वजह से मक़बूज़ा फ़िलिस्तीन से निवेशकों के बाहर निकलने का सिलसिला तेज़ हो गया है।

जिस अंदाज़ से इस बार निवेशक इस्राईल से भाग रहे हैं उसका अतीत में कोई उदाहरण नहीं है। अध्ययनों से पता चला कि वर्ष 2023 में मक़बूज़ा फ़िलिस्तीन से कैपिटल बाहर ले जाने की प्रक्रिया में 232 प्रतिशत की तेज़ी आई है।

इस्राईल ने पिछले कई वर्षों से बड़ी मेहनत और धूर्तता से अपने भयानक अपराधों को जस्टीफ़ाई करने की कोशिश की मगर ग़ज़ा की जंग ने उसे पूरी तरह बेनक़ाब कर दिया, हालत यह हो गई कि पश्चिमी देशों के नागरिक जिन्हें इस्राईल के शुभचिंतकों में गिना जाता था कई दशकों में पहली बार इस्राईल के ख़िलाफ़ लामबंद हो गए हैं। कई दशकों में यह पहला मौक़ा है जब इस्राईल करोड़पतियों के 10 मुख्य डेस्टिनेशनों की सूची से बाहर निकल गया है।

बिज़नेस इनसाइडर वेबसाइट के आंकड़ों पर आधारित पार्ट टुडे की रिपोर्ट बताती है कि वर्ष 2023 में मक़बूज़ा फ़िलिस्तीन यानी इस्राईल से पूंजी निकाल कर दूसरे इलाक़ों में निवेश करने की प्रक्रिया में 232 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

यह रिपोर्ट बताती है कि अब इस्राईल दुनिया के निवेशकों के दस पसंदीदा डेस्टीनेशनों की सूची से बाहर निकल गया है।

हेनली एंड पार्टनर्ज़ कंपनी ने इस बारे में बताया कि जंग ने इस्राईल को निवेश के सुरक्षित डेस्टिनेशन के रूप में पूरी तरह ध्वस्त कर दिया, बल्कि नौबत यह आ गई है कि इस्राईल को आर्थिक उपलब्धियों के लिए गंभीर ख़तरा समझा जा रहा है।

इस ब्रिटिश कंपनी के अधिकारी डेनी मारकोनी ने ज़ायोनिस्ट रेजीम के आइसोलेशन की स्थिति का ज़िक्र करते हुए कहा कि जंग जारी रहने की वजह से वो सेटलर्ज़ बहुत चिंतित हैं जिनके इस्राईल के बाहर भी आर्थिक हित हैं।

जंग जारी रहने की वजह से कई देशों ने इस्राईल से अपने डिप्लोमैटिक रिश्ते ख़त्म कर लिए हैं जिसकी वजह से इस्राईलियों के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान जाने में परेशानियां आ रही हैं।

हेनली एंड पार्टनर्ज़ कंपनी ने करोड़पतियों के दस पसंदीदा डेस्टिनेशनों की सूची से इस्राईल के बाहर निकल जाने को एक आर्थिक भूकंप की संज्ञा दी है।

इस्राईल ग़ज़ा जंग में अब तक 37 हज़ार से अधिक फ़िलिस्तीनियों का क़त्ले आम कर चुका है और 70 हज़ार से अधिक लोग घायल हुए हैं।

कीवर्ड्ज़ः इस्राईल से निवेशको का फ़रार, इस्राईल से पलायन में तेज़ी, ग़ज़ा के ख़िलाफ़ इस्राईल की जंग

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें। 

टैग्स