Jun १८, २०२४ १५:४० Asia/Kolkata
  • एक ज़ायोनी सैनिक ने रहस्योद्घाटन किया है कि ज़ायोनी सैनिकों में क़ानून व्यवस्था का अंत हो चुका है

पार्सटुडे- इस्राईल के एक उच्च सैनिक अफ़सर ने स्वीकार किया है कि ज़ायोनी सेना के अंदर ग़ज़्ज़ा युद्ध को जारी रखने की तत्परता नहीं है।

ग़ज़्ज़ा युद्ध को आरंभ हुए जितना अधिक समय गुज़रता जा रहा है उतना अधिक फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध के ख़िलाफ़ जंग जारी रखने में इस्राईली सेना की अक्षमता पहले से अधिक सामने आती जा रही है।

 

पार्सटुडे की रिपोर्ट के अनुसार ज़ायोनी सेना के एक वरिष्ठ सैनिक अफ़सर ने इस सरकार के सैनिकों की कमज़ोरी की ओर संकेत करते हुए कहा कि हमारे सैनिक छतों पर, खिड़कियों के नज़दीक और घरों के अंदर अंधेरी जगह पर मौजूद बत्तख़ों की भांति हरकत करते हैं।

 

इस ज़ायोनी अफ़सर ने आगे कहा कि ग़ज़्ज़ा पट्टी में इस्राईली सैनिकों के कारवां को कोई समर्थन प्राप्त नहीं है और कुछ वास्तविकताओं के आधार पर इस्राईल के अंदर ग़ज़्ज़ा युद्ध को जारी रखने के लिए ज़रूरी तत्परता नहीं है।

 

कुछ समय पहले भी ज़ायोनी संसद नेसेट के एक सदस्य औदिद बुरेर ने ग़ज़्ज़ा पट्टी में ज़ायोनी सरकार की पराजय व नाकामी को स्वीकार किया और कहा कि कमज़ोर और नाकाम प्रबंधन ने हमारी बुरी गत कर दी है, यह ऐसी बुरी हालत है जिसे हमने अतीत में कभी नहीं देखा।

 

इसी बीच इस्राईल के 12वें टीवी चैनल ने भी फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हमास की प्रगति को ध्यान में रखते हुए स्वीकार किया है कि हमास ग़ज़्ज़ा पट्टी में स्वयं को ताज़ा नफ़स करने में सफ़ल हो गया है। MM

उच्च इस्राईली अफ़सर, औदिद बुरेर, ज़ायोनी सरकार की विफ़लता, ग़ज़्ज़ा जंग, बत्तख़ों की तरह इस्राईली सैनिकों की हरकत

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें।

 

टैग्स